विराट कोहली

गावस्कर ने कहा- रांची टैस्ट में विराट कोहली ने की थी यह गलती

Posted on

भारत और ऑस्ट्रेलिया रांची में खेला गया तीसरा टैस्ट में उतार-चढ़ाव को देखकर टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी कप्तान सुनील गावस्कर ने विराट कोहली के टीम चयन पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

गावस्कर ने कहा- रांची टैस्ट में विराट कोहली ने की थी यह गलती

उन्होंने विराट कोहली पर उंगली उठाते हुए कहा कि जब नंबर 6 और 7 पर भारतीय टीम अश्विन और ऋद्धिमान साहा जैसे खिलाड़ियों की बल्लेबाजी कर सकते हैं और 8वें नंबर जडेजा भी रन बना सकते हैं, को टीम को 6 बल्लेबाज और 5 गेंदबाज का फॉर्मूल अपनाना चाहिए। सोमवार को भारत को 5वें गेंदबाज की कमी महसूस हुई। मैं यह नहीं कह रहा कि 5वां गेंदबाज विपक्षी टीम को आउट कर देता लेकिन वह कठिन मेहनत कर रहे तेज गेंदबाजों को विराम जरुर देता। उमेश और इशांत ने दिल से गेंदबाजी की।

अधिक जानकारी के लिए –

BCCI ग्रेड का एेलान- मालामाल होंगे ये भारतीय क्रिकेटर, रैना नहीं बना पाए जगह

Posted on

बीसीसीआई ने अपने नए सालाना कॉन्ट्रैक्ट की घोषणा बुधवार को कर दी। कप्तान विराट कोहली सहित सात खिलाड़ियों को ग्रेड ए में जगह दी गई है। रवींद्र जडेजा, चेतेश्‍वर पुजारा और मुरली विजय को टेस्‍ट क्रिकेट में हालिया प्रदर्शन का फायदा बीसीसीआई के सालाना कॉन्‍ट्रेक्‍ट में हुआ है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने इन तीनों क्रिकेटर्स को ग्रेड ए में विराट कोहली, एमएस धोनी, आर अश्विन और अजिंक्‍य रहाणे के साथ जगह दी है। ग्रेड ए के खिलाड़ी को सालाना दो करोड़ रुपए बीसीसीआर्इ से मिलते हैं। इस राशि में भी बढ़ोत्‍तरी की गई है। पहले यह रकम सालाना एक करोड़ रुपए थी। वहीं रैना इनमें से किसी भी ग्रेड में अपनी जगह नहीं बना पाए।

BCCI ग्रेड का एेलान- मालामाल होंगे ये भारतीय क्रिकेटर, रैना नहीं बना पाए जगह.jpg

ग्रेड ए: विराट कोहली, एमएस धोनी, आर अश्विन, अजिंक्‍य रहाणे, रवींद्र जडेजा, चेतेश्‍वर पुजारा और मुरली विजय।

ग्रेड बी: रोहित शर्मा, केएल राहुल, भवुनेश्‍वर कुमार, मोहम्‍मद शमी, ईशांत शर्मा, उमेश यादव, ऋद्धिमान साहा, युवराज सिंह, जसप्रीत बुमराह।

ग्रेड सी: शिखर धवन, अंबाती रायडु, अमित मिश्रा, अक्षर पटेल, करुण नायर, हार्दिक पांड्या, मनीष पांडे, आशीष नेहरा, केदार जाधव, युजवेंद्र चहल, पार्थिव पटेल, जयंत यादव, मनदीप सिंह, धवल कुलकर्णी, शार्दुल ठाकुर, ऋषभ पंत।

अधिक जानकारी के लिए –

स्मिथ ने विराट सेना को हराकर लिया 17 साल पुराना बदला

Posted on

ऑस्‍ट्रेलिया ने पुणे टेस्‍ट में भारत को 333 रनों से हराकर 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में 0-1 से बढ़त बना ली है। जीत के लिए मिले 431 रन का पीछा करते हुए मैच के तीसरे ही दिन भारत की पारी 107 रन पर सिमट गई। भारत की साल 2012 के बाद घर में पहली टेस्‍ट हार है। इससे पहले उसे इंग्‍लैंड ने 2012 में हराया था।

%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a4%bf%e0%a4%a5-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9f-%e0%a4%b8%e0%a5%87%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%b9%e0%a4%b0%e0%a4%be

पुणे टेस्‍ट में लेफ्ट आर्म स्पिनर स्‍टीव ओकीफी ने दूसरी पारी में 35 रन देकर छह विकेट झटके। इस तरह से उन्‍होंने पुणे टेस्‍ट में कुल 12 विकेट लिए। इस हार के साथ ही भारतीय टीम का कप्‍तान विराट कोहली के नेतृत्‍व में लगातार 19 टेस्‍ट में अजेय रहने का सफर भी थम गया। इस तरह से ऑस्‍ट्रेलिया ने लगभग 17 साल बाद भारत से हिसाब चुकता कर दिया है।

इंग्लैंड को पछाडऩे के लिए कोहली ने अपनाया नया तरीका

Posted on Updated on

भारतीय टैस्ट कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड की पिचों तथा परिस्थितियों को समझने के लिए वहां काउंटी क्रिकेट खेलने पर विचार कर रहे हैं। भारत को 2018 में टेस्ट सीरीज खेलने के लिए इंग्लैंड का दौरा करना है। लेकिन विश्व में दूसरे नंबर के टेस्ट बल्लेबाज विराट का रिकॉर्ड इंग्लैंड में ठीक नहीं रहा है। उन्होंने इंग्लैंड की धरती पर 10 टैस्ट पारियों में मात्र 138 रन ही बनाए हैं। लेकिन अब वह अपने इस रिकॉर्ड को सुधारने के लिए टीम के दौरे से पहले वहां पर काउंटी क्रिकेट खेलकर वहां की पिचों और परिस्थितियों को समझना चाहते हैं। विराट ने इंग्लैंड के खिलाफ शुरु होने वाले 5वें और अंतिम टैस्ट मैच की पूर्वसंध्या पर गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, यदि मुझे मौका मिलता है तो मैं निश्चित रूप तौर पर वहां जाना चाहूंगा।

%e0%a4%87%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%88%e0%a4%82%e0%a4%a1-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%aa%e0%a4%9b%e0%a4%be%e0%a4%a1%e0%a4%a9%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%8f

विराट ने कहा, एक समय पर हम केवल खेल पर ध्यान देते हैं। टीम उसी आक्रामकता के साथ मैदान में उतरेेगी जिस आक्रामकता के साथ हमने पिछले टेस्ट में जीत दर्ज की थी। हर दिन और हर गेम अलग होता है। लेकिन सभी मैचों में हम आक्रामकता के साथ ही मैदान में उतरते हैं चाहे मैच हारे, जीते या ड्रा हो। हम स्कोर पर ध्यान नहीं देते बल्कि अपना स्वभाविक खेल खेलते हैं। उन्होंने अपने निचले क्रम के बल्लेबाज खासकर स्पिनरों की जमकर तारीफ की। भारतीय बल्लेबाज ने कहा, निचले क्रम के बल्लेबाजों का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा है। अश्विन ने अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी से अन्य बल्लेबाजों के लिए एक उदाहरण पेश किया है। जडेजा ने मोहाली में अच्छा प्रदर्शन किया।

अधिक जानकारी के लिए –